नयी दिल्ली: केरल में अत्यधिक बारिश के बावजूद मौसम विभाग के आंकड़े से पता चलता है कि इस बार मानसून के दौरान दक्षिण भारत के 40 प्रतिशत से ज्यादा जिलों में कम बारिश हुई।

क्षेत्र के 125 जिलों में से 54 में कम बारिश हुयी और दो अन्य में अनुमान से बहुत कम बारिश हुई।

मौसम विभाग के आंकड़े के मुताबिक दक्षिण भारत में सबसे कम तमिलनाडु में बारिश हुई।

इसके 32 जिलों में 20 में कम बारिश हुई जबकि एक में अत्यंत कम वर्षा दर्ज की गयी।

केरल में मानसूनी बारिश के कारण बाढ़ और भूस्खलन से 290 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी और 10 लाख से ज्यादा लोग विस्थापित हो गए ।

तेलंगाना में 31 जिलों में छह में अनुमान से बहुत कम बारिश हुई। पुडुचेरी के सभी चार जिलों में यही हाल रहा।

केरल के पड़ोसी कर्नाटक के 30 जिलों में 14 में कम बारिश हुई और दो में तो अनुमान से बहुत कम बारिश हुई।

मौसम विभाग ने कहा है कि देश स्तर पर पूर्व में 27 प्रतिशत कम इसके बाद उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में क्रमश: तीन प्रतिशत और एक प्रतिशत कम बारिश हुई।

इस सप्ताह जल संसाधन मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक देश के 91 प्रमुख जलाशयों में 101.286 बीसीएम (अरब घन मीटर) जल संग्रह हुआ। यह इन जलाशयों की कुल संग्रहण क्षमता 257.812 बीसीएम का 63 प्रतिशत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here