केन्‍द्रीय सड़क परिवहन तथा राजमार्ग, शिपिंग, जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्री श्री नितिन गडकरी ने अत्‍यावश्‍यक रूप से ऑटोमोबिल कंपनियों से बिजली तथा वैकल्पिक ईंधनों से चलने वाली सार्वजनिक परिवहन प्रणाली पर ध्‍यान देने का आह्वान किया। आज नई दिल्‍ली में मूव : ग्‍लोबल मो‍बिलिटी समिट-2018 के हिस्‍से के रूप में भारतीय तथा वैश्विक ऑटोमोबिल कंपनियों के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारियों को संबोधित करते हुए श्री गडकरी ने उनसे आग्रह किया कि वे सार्वजनिक परिवहन क्षेत्र की ओर विविधता के बारे में सक्रिय रूप से सोचे और इस दिशा में अनुसंधान और नवाचार प्रयासों पर बल दें। उन्‍होंने कहा‍ कि सड़कों पर तेजी से निजी वाहन आ रहे हैं और इस वृद्धि के अनुरूप राजमार्गों का विस्‍तार संभव नहीं हो सकता। इसलिये हमें लोगों को सार्वजनिक परिवहन की ओर मुड़ने के लिए प्रोत्‍साहित करना होगा और इसके लिए हमें एक कारगर सुविधाजनक, आरामदेह और सुरक्षित प्रणाली बनानी होगी।

श्री गडकरी ने पेट्रोलियम आयात की ऊंची लागत को कम करने की आवश्‍यकता पर बल दिया और ऑटोमोबिल क्षेत्र की कंपनियों से बिजली या इथेनोल, मिथनोल, जैव डीजल और हाईब्रिड की ओर मुड़ने की अपील को दोहराया। उन्‍होंने कंपनियों को आश्‍वासन दिया कि सरकार वैसे सभी तरह के ईंधन विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है, जो आयात का विकल्‍प हो, लागत प्रभावी हो, पर्यावरण अनुकूल हो और स्‍वदेशी हो।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने ऑटोमोबिल उद्योग से वैकल्पिक और सस्‍ते परिवहन के रूप में अंतर्देशीय जलमार्ग और तटीय जहाजरानी की संभावना को तलाशने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि गंगा नदी पर चालू जलमार्ग विकास परियोजना परिवहन के लिए नदी को तैयार कर रही है और इस मार्ग को ब्रह्मपुत्र से जोड़ा जाएगा, जिससे सामानों को भारत से बांग्‍लादेश और म्‍यामांर तक जलमार्ग से भेजना संभव होगा। उन्‍होंने कहा कि अपने वाहनों के परिवहन के लिए ऑटोमोबिल कंपनियां इस मार्ग का उपयोग करें।

टाटा मोटर्स, टाटा पॉवर, मर्सीडीज बेंज (इंडिया), मारूति सुजूकी, हीरो मोटोकॉर्प, होंडा इंडिया, फोर्ड तथा स्‍पाइसजैट के सीईओ/एमडी/प्रतिनिधि सीईओ के साथ सत्र में शामिल हुये। इसमें भारत में मोबिलिटी क्षेत्र की चुनौतियों और संभावनाओं विशेषकर प्रधानमंत्री के 3सी कॉमन, कनेक्‍टेड, कनविनिएंट, कंजेस्‍चन फ्री, चार्जड तथा कटिंगएज के आह्वान के संदर्भ में चर्चा की गई।

श्री गडकरी ने ऑटोमोबिल उद्योग से कुंभ मेला के दौरान तीर्थयात्रियों को इलाहाबाद से वाराणसी लाने-ले जाने के लिए जल परिवहन में निवेश करने का आमंत्रण दिया।

सड़क परिवहन तथा राजमार्ग सचिव श्री युद्धवीर सिंह मलिक ने कहा कि हमें निजी वाहनों की जगह सार्वजनिक वाहन में बदलने की आवश्‍यकता है और इसके लिए सार्वजनिक परिवहन को विश्‍वसनीय, समयबद्ध और सुविधापूर्ण होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here