मध्यप्रदेश के ग्वालियर में दिव्यांग खेलों के लिए एक केन्द्र स्थापित किया जाएगा। इसे स्थापित करने के प्रस्ताव को सरकार ने मंजूरी दे दी है। यह सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत किया जाएगा, जो दिव्यांग खेल केन्द्र, ग्वालियर के नाम से काम करेगा। इस सेंटर द्वारा सृजित उन्नत बुनियादी सुविधाओं के बल पर खेल की गतिविधियों में भी दिव्यांगजनों की प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित किया जाएगा और उन्हें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम बनाया जाएगा। इस केंद्र की स्थापना से समाज के साथ दिव्यांगजनों को जोड़ने की भावना का विकास होगा।

यह परियोजना 1 अप्रैल, 2019 को शुरू होगी और दो साल, यानि 31 मार्च 2021 तक इसके पूरा होने की संभावना है। इसके बाद, केंद्र को चालू होने में 6 महीने लगेंगे। इसका काम शुरू होने पर, इस केंद्र में 140 कर्मचारियों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा, निर्माण और संबद्ध गतिविधियों से भी रोजगार के अवसर पैदा होंगे। केंद्र की स्थापना की अनुमानित लागत 170.99 करोड़ रुपये (5 वर्षों की अवधि में, गैर-आवर्ती 151.16 करोड़ रूपये और आवर्ती 19.83 करोड़ रुपये) होगी।

इस केंद्र में एक आउटडोर एथलेटिक स्टेडियम, इनडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बेसमेंट पार्किंग सुविधा; जलीय केंद्र में 2 स्विमिंग पूल, एक कवर पूल और एक आउटडोर पूल, कक्षाओं के साथ उच्च निष्पादन केंद्र; चिकित्सा सुविधाएं; खेल विज्ञान केंद्र; एथलीटों के लिए छात्रावास की सुविधा, सुलभ लॉकर्स, भोजन, मनोरंजक सुविधाएं और प्रशासनिक ब्लॉक सहित सहायता सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इस प्रकार विकसित सुविधाओं से प्रशिक्षण, चयन, खेल शिक्षाविदों और अनुसंधान, चिकित्सा सहायता, दर्शक दीर्घाओं और राष्ट्रीय / अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों आयोजनों के लिए उपयुक्त सुविधाओं से सुसज्जित बहुआयामी केंद्र होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here