लार्सन एंड टुब्रो लि. के तालेगांव परिसर में को आयोजित एक समारोह में 5 मीटर शॉट स्पैन पुल को औपचारिक रूप से भारतीय सेना को सौंपा गया। स्वदेशी तकनीक से निर्मित रक्षा उपकरण का यह एक अन्य प्रेरणादायी उदाहरण है। पुल को स्वदेशी तकनीक से डिजाइन और विकसित किया गया है। यह इंजीनियर कोर और डीआरडीओ प्रयोगशाला, पुणे के बीच घनिष्ठ समन्वय का परिणाम है। लार्सन एंड टुब्रो लि. ने इस उपकरण का निर्माण किया है और इसे निर्धारित समय से तीन महीने पहले सौंपा है। सभी हितधारकों ने चुनौतियों से निपटने के लिए ठोस प्रयास किए हैं और इस प्रकार सरकार के मेक इन इंडिया सपने को सकार किया है। रक्षा आवश्यकताओं पर आत्मनिर्भरता, इस कार्यक्रम का एक प्रमुख घटक है।

पुलों के त्वरित निर्माण से सेना की गतिशीलता से संबंधित आवश्यकता पूरी होती है। पुल का निर्माण, इंजीनियर कोर की ऐसी स्वदेशी परियोजनाओं में से एक है जिन्होंने महत्वपूर्ण प्रगति हासिल की है और जिनके उपकरणों को शीघ्र ही कोर में शामिल किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here